"Motivation PaperLess Study" टेलीग्राम चैनल

टेलीग्राम चैनल का लोगो Motivation_Paperlessstudy — Motivation PaperLess Study
301
चैनल से विषय:
Paperlessstudy
टेलीग्राम चैनल का लोगो Motivation_Paperlessstudy — Motivation PaperLess Study
चैनल से विषय:
Paperlessstudy

"Motivation PaperLess Study" टेलीग्राम चैनल

चैनल का पता: @Motivation_Paperlessstudy
श्रेणियाँ: मनोविज्ञान
भाषा: हिंदी
ग्राहकों: 2,068 (डेट अपडेट करें: 2021-11-27)
चैनल से विवरण

टिप्पणियाँ

टिप्पणी पोस्ट करने के लिए आपको लॉगिन करना होगा।



नवीनतम संदेश

2021-07-17 05:48:26 🌳🦚आज की कहानी🦚🌳



💐💐माँ के प्रेम की पराकाष्ठा💐💐



गाँव के सरकारी स्कूल में संस्कृत की क्लास चल रही थी। गुरूजी दिवाली की छुट्टियों का कार्य बता रहे थे।

तभी शायद किसी शरारती विद्यार्थी के पटाखे से स्कूल के स्टोर रूम में पड़ी दरी और कपड़ो में आग लग गयी। देखते ही देखते आग ने भीषण रूप धारण कर लिया। वहां पड़ा सारा फर्निचर भी स्वाहा हो गया।

सभी विद्यार्थी पास के घरो से, हेडपम्पों से जो बर्तन हाथ में आया उसी में पानी भर भर कर आग बुझाने लगे।

आग शांत होने के काफी देर बाद स्टोर रूम में घुसे तो सभी विद्यार्थियों की दृष्टि स्टोर रूम की बालकनी (छज्जे) पर जल कर कोयला बने पक्षी की ओर गयी।

पक्षी की मुद्रा देख कर स्पष्ट था कि पक्षी ने उड़ कर अपनी जान बचाने का प्रयास तक नही किया था और वह स्वेच्छा से आग में भस्म हो गया था।

सभी को बहुत आश्चर्य हुआ।

एक विद्यार्थी ने उस जल कर कोयला बने पक्षी को धकेला तो उसके नीचे से तीन नवजात चूजे दिखाई दिए, जो सकुशल थे और चहक रहे थे।

उन्हें आग से बचाने के लिए पक्षी ने अपने पंखों के नीचे छिपा लिया और अपनी जान देकर अपने चूजों को बचा लिया था।

एक विद्यार्थी ने संस्कृत वाले गुरूजी से प्रश्न किया - गुरूजी, इस पक्षी को अपने बच्चो से कितना मोह था, कि इसने अपनी जान तक दे दी ?

गुरूजी ने तनिक विचार कर कहा - नहीं, यह मोह नहीं है अपितु माँ के प्रेम की पराकाष्ठा है, मोह करने वाला ऐसी विकट स्थिति में अपनी जान बचाता और भाग जाता।प्रेम और मोह में जमीन आसामान का फर्क है।

मोह में स्वार्थ निहित होता है और प्रेम में त्याग होता है।

भगवान ने माँ को प्रेम की मूर्ति बनाया है और इस दुनिया में माँ के प्रेम से बढ़कर कुछ भी नहीं है।

माँ के उपकारो से हम कभी भी उपकृत नहीं हो सकते।

इसलिए दोस्तों मां के आँखों में कभी आंसू मत आने देना!!




💐💐 💐💐


सदैव प्रसन्न रहिये।
जो प्राप्त है, पर्याप्त है।।
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏
456 views
ओपन / कमेंट
2021-07-15 14:04:39
Picture 1 from Motivation PaperLess Study 2021-07-15 14:04:39
असल‌ मोटीवेशन 👆👆
281 views
ओपन / कमेंट
2021-07-13 05:40:41 📆13 JULY 2021📆

📆आज की प्रेरणा📝

सूर्योदय से पहले उठना अच्छा होता है क्योंकि ऐसी आदत आपको स्वस्थ, समृद्ध और बुद्धिमान बनाती है।

📆आज से हम👥 सुबह जल्दी उठें और अपने समय को स्वास्थ्य की देखभाल और बुद्धिमत्ता प्राप्त करने में लगाएं...

▪️INSPIRATION▪️

It's well to be up before daybreak, for such habits contribute tohealth, wealth and wisdom.

📆TODAY ONWARDS LET'S wake up early and invest time in caring for our health and gaining wisdom.

@motivation_paperlessstudy
136 views
ओपन / कमेंट
2021-07-09 13:40:44 💥सफलता का सरल रास्ता
Must Listen everyone

👇🏿👇🏿👇🏿👇🏿👇🏿👇🏿👇🏿👇🏿
255 views
ओपन / कमेंट
2021-07-04 13:54:28
Picture 1 from Motivation PaperLess Study 2021-07-04 13:54:28
👇👇
402 views
ओपन / कमेंट
2021-07-02 21:55:10 ✍️काम ऐसा करो कि
तुम्हें अपने पैदा होने पर गर्व हो

❣️इस दुनिया में हर इंसान के अंदर कुछ करने की क्षमता होती है... कोई किसी से कम नही होता है..कोई भी इंसान अगर full devotion के साथ किसी चीज को करने पर लग जाये तो...निश्चय ही एक न एक दिन कर लेगा...लेकिन इसे करने के लिए आपके अंदर एक emotion का होना जरूरी है...

💪आपको सफल होना है तो आपके अंदर एक ऐसा emotion होना चाहिए..जो उस कार्य को करने के लिए आपको मजबूर कर दे.. जिस देश में करीब 20 करोड़ लोग हर रोज भूखे पेट सोने के लिए मजबूर हैं।

💪और जिस देश में हर रोज़ महिलाएं किसी ना किसी अपराध का शिकार होती हैं...तो मुझे नही लगता उस देश के युवा के पास इससे बड़ा भी कोई emotion ढूँढना पड़े..रूह-रूह में जो आग लगा दे ऐसा emotion को ढूंढ लो.
💪 और जिस दिन आपके अंदर वो emotion पैदा हो गया न..तो यकीन मानो...दिन-रात को एक कर दोगे पढ़ते पढ़ते...ये मोटी मोटी किताबे रट्टा मार जाओगे..जब ऐसा emotion पैदा हो जायेगा तो आपको sandeep maheshwari का video नही देखना पड़ेगा...
खुद ब ✍️खुद करने लगोगे ...emotion 🤔में बहुत ताकत होती है.. जिस पहाड़ को काटने के लिए बड़े बड़े मशीनों की जरूरत होती है....उस कार्य को दशरथ मांझी ने केवल छेनी हथौड़ा से काट डाला था..

🤔 जानते है कैसे ?
क्योकि उनके पास एक emotion था की मुझे हर हालात में इसे काट कर गिराना है..पहाड़ काटने 💪के क्रम में बार बार वे खून से लथपथ होकर जख्मी हुए.. लेकिन उनके मुँह से एक ही शब्द निकलता था...जब तक तोड़ेंगे नहीं, तब तक छोड़ेंगे नहीं...बार बार पहाड़ो के तरफ देख कर कहते थे बहुतै बड़ा दंगल चलेगा रे हमार तोहार.....
कड़ी धूप,सर्दी,बरसात में भी वे डटे रहे..और अंततः विशाल पहाड़ का सीना चीर कर रास्ता बना डाले...
✍️ तो चलो

ढूंढो अपने आप में ऐसा emotion जो तुम्हे इतिहास रचने को विवश कर दे ...वो आग पैदा करो अपने अंदर जिसकी चिंगारिया तुम्हे मंसूरी तक ले जायेगी.. सोचो मत ठोक दो जी जान ...सफलता तुम्हारे पास है.. बढ़ाओ।।
68 views
ओपन / कमेंट
2021-07-02 16:38:11
Picture 1 from Motivation PaperLess Study 2021-07-02 16:38:11
ये है कर्नाटक की 51 वर्षीय "गौरी नायक"
जिन्होंने बिना किसी मदद के रोज अकेले 6 घण्टे मेहनत कर के 6 महीने में अपने खेत मे लगे पौधों को पानी देने के लिए 60 फुट गहरे दो कुँए खोद डाले आज उन्हें इस मेहनत की वजह से "लेडी भागीरथ" के नाम से जाना जाता है
नमन है इस साहसी महिला को🙏🙏
196 views
ओपन / कमेंट
2021-06-30 06:26:41
Picture 1 from Motivation PaperLess Study 2021-06-30 06:26:41
सुप्रभात
513 views
ओपन / कमेंट
2021-06-30 06:20:14 कहानी - भगवान श्रीकृष्ण बचपन में माखन चोरी की लीला किया करते थे। माखन चोरी से परेशान होकर गोकुल के बहुत सारे लोग नंद बाबा और यशोदा के सामने कृष्ण की शिकायत करते थे।

एक दिन नंद बाबा ने विचार किया कि ये सब कृष्ण का सिर्फ खेल है या इसके पीछ कोई और विचार है? नंद बाबा ने सभी के सामने कृष्ण से पूछा, 'तुम माखन चोरी क्यों करते हो? हमारे घर में किसी चीज की कमी नहीं है तो फिर दूसरों की मटकियां क्यों फोड़ते हो?'

कृष्ण ने कहा, 'आप लोग अपनी मेहनत और ईमानदारी से दूध, दही, घी, माखन तैयार करते हैं और फिर ये चीजें कर (टैक्स) के रूप में कंस जैसे दुष्ट राजा को दे देते हैं। इस तरह दुष्ट सत्ता कैसे समाप्त होगी? प्रजा अपनी ईमानदारी और परिश्रम का फल श्रेष्ठ राजा को दे तो समझ आता है। अगर आप कंस को कर देना नहीं रोकेंगे तो मैं चोरी और तोड़-फोड़ करता रहूंगा, ताकि आप लोग ये विचार करें कि कंस को कर देना अच्छी बात नहीं है।'

सीख - कृष्ण ने बचपन में ही ये सीख दे दी है कि हमें अपनी ईमानदारी और परिश्रम से कमाई गई धन-संपत्ति दुष्ट लोगों को नहीं देनी चाहिए। हम ऐसी मेहनत न करें, जिससे किसी बुरे व्यक्ति को लाभ मिलता है। ऐसा करने से बुरे लोगों की ताकत बढ़ती है। इसलिए ईमानदारी और मेहनती व्यक्ति को भी सतर्क रहना चाहिए।
494 views
ओपन / कमेंट